WhatsApp Settings Ko Update Kyu Kare

WhatsApp settings ko update kyu kare

WhatsApp settings update kyu kareSource
Hello dosto, whatsapp messenger facebook owned hai aur ye baat sabhi jaante hai aur ye baat bhi btane ki jarurat nhi hai ke puri duniya mein whatsapp ke 1 Arab se bhi jyada user hai. This number of users, show karta hai ke duniya ka har 7 wa person whatsapp user hai. Yaha aaj hum bahut hi important subject par discuss karenge ki aakhir hum apne whatsapp ki settings mein changes kyu kare ? Ishka reason kya hai ?

Why you should update your whatsapp settings

Kya aap ne socha hai ki facebook, youtube, google, twitter ye sabhi social networking sites itna jyada paisa kyu kamati hai aur internet ka use karne waala lagbhag har insan in sabhi ko use kyu kar rha hai ?

Facebook aaj ek bahut badi site hai jiske pass millions of active users hai. Millions logo ke data hai, kon insaan kya karta hai, kis insaan ko kya pasnd hai, future mein kis prakar ke badlav ho sakte hai, logo choices etc, yaha kahne ka matlab hai ki facebook jaisi site ki growth ke pichhe sab se bada reason hai logo ka data. Aur yahi data aaj Facebook ki success hai. So aaj hum jis topic par baat kar rahe hai wo facebook ka hi part hai aur hamare liye janana bahut jaruri hai.

Whatsapp ne 2011 mein last time apni terms aur privacy policy update ki thi lekin abhi tech news mein jo viral ho rha hai wo bhi aap ko dhyan mein jarur rakhna chahiye ki whatsapp ne apni terms aur condition mein kya badlav kiya hai. Aur kya ye changes hmare liye helpful ya nuksaandayak hai ye bhi aap ko jaan lena chahiye.

2015 mein whatsapp ko free use ke liye release kar diya gya tha ish se pahle har user ko 0.99 $ per year pay karna hota tha, lekin jab Facebook ne whatsapp ko free use ke liye launch kiya tha tab kaha tha ke future mein whatsapp ko manage karne par hone waale kharch ko ads show kar pura kiya jaayega, lekin ush time ads ke liye sayad sabhi preparation nahi thi. Lekin yesterday, whatsapp ne apne blog post mein latest policy ka jikar kiya hai.

आज, हम WhatsApp के सेवा की शर्ते और गोपनीयता नीति का चार साल में पहली बार अद्यतन कर रहे हैं, यह हमारी भविष्य के आने वाले महीनो में लोगों और बिज़नस के बीच संचार का परीक्षण करने के योजना का हिस्सा हैं. उद्दिनांकित दस्तावेज़ यह दर्शाते हैं कि हम Facebook से जुड़े हैं और हमने हाल हीं में कई नई विशेषता शामिल की हैं, जैसे शुरू से अंत तक एन्क्रिप्शन, WhatsApp कॉलिंग, और मेस्सजिंग साधन जैसे वेब और डेस्कटॉप के लिए WhatsApp. आप यहां पर पूरा दस्तावेज़ पढ़ सकते हैं. लोग हमारे एप्प का उपयोग हर रोज़ करते हैं ताकि वे अपने दोस्तों और प्रियजन जो उनके लिए मायने रखते हैं से संपर्क में रह सकें, और यह बदल नहीं रहा है. पर, जैसा की हमने इस साल के शुरुआत में घोषणा की थी, हम आपका उन बिज़नस के साथ संचार के तरीको का पता लगाना चाहते हैं जोकि आपके लिए भी मायने रखते हैं, इसके साथ ही हम किसी तीसरे पक्ष के बैनर विज्ञापन और स्पैम के बिना आपको अनुभव प्रदान करना कायम रखेंगे. भले वह आपके बैंक के तरफ से किसी संभावित धोखाधड़ी लेनदेन के चेतावनी का सन्देश हो, या फ्लाइट में देरी की सूचना देने के लिए एयरलाइन द्वारा भेजा गया सन्देश, हम में से कई लोगों को यह जानकारी कहीं और से मिलती है, जैसे SMS सन्देश या फ़ोन कॉल. हम अगले कई महीनो में इन विशेषताओं का परीक्षण करना चाहते हैं, पर ऐसा करने के लिए हमे अपने सेवा की शर्ते और गोपनीयता नीति का अद्यतन करना आवश्यक है. हम इन दस्तावेज़ का अद्यतन यह साफ़ करने के लिए भी कर रहे हैं की हमने शुरू से अंत तक एन्क्रिप्शन शामिल किया है. जब आप और वे लोग जिन्हें आप सन्देश भेजते हैं WhatsApp के नवीनतम संस्करण का उपयोग करते हैं, आपके सन्देश डिफ़ॉल्ट से एन्क्रिप्टेड होते हैं, इसका मतलब है कि सिर्फ आप लोग हीं उन संदेशों को पढ़ सकते हैं. भले हीं हम आने वाले महीनो में Facebook के साथ ज्यादा समन्वय स्थापित करें, आपके एन्क्रिप्टेड सन्देश निजी रहेंगे और उन्हें कोई और पढ़ नहीं पाएगा. न WhatsApp, न Facebook, नाही कोई और. हम आपका WhatsApp नंबर Facebook समेत कहीं पोस्ट या किसी अन्य से साझा नहीं करेंगे, और हम अभी भी आपका फ़ोन नंबर विज्ञापक को नहीं बेचेंगे, नाही उन्हें देंगे या उनके साथ साझा करेंगे. मगर Facebook के साथ अधिक समन्वय रख कर, हम ऐसी बुनियादी मैट्रिक्स का पता लगा सकते हैं जैसे लोग हमारी सेवा का उपयोग कितने बार करते हैं और WhatsApp पर हम स्पैम से बेहतर तरह से कैसे लड़ सकते हैं. और आपके फ़ोन नंबर को Facebook के सिस्टम से जोड़ कर, Facebook आपको बेहतर मित्र के सुझाव दे सकता है और आपको अधिक उपयुक्त विज्ञापन दिखा सकता है अगर आपका उसपर खाता है. उदाहरण के रूप में, आपको उस कंपनी का विज्ञापन दिखने के बजाय जिसका नाम आपने कभी सुना नहीं है आपको उन कंपनी का विज्ञापन दिख सकता है जिसके साथ आप पहले से कार्य करते हैं. आप यहां पर अपने डेटा के उपयोग को कैसे नियंत्रित करें समेत अधिक जानकारी पा सकते हैं. हमारा निजी संचार में विश्वास अचल है, और हम बिलकुल प्रतिबद्ध हैं कि WhatsApp पर आपको सबसे तेज़, सबसे सरल, और सबसे विश्वसनीय अनुभव प्रदान कर सकें. हमेशा की तरह हमे आपकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार है, WhatsApp का उपयोग करने के लिए धन्यवाद.

How much beneficial whatsapp new policy

Whatsapp ne pahle se user ko behtar services dene ke liye End to End encryption feature ko provide kiya hua hai. Aur updated whatsapp privacy policy mein bhi ish baat par dhyan diya hai ke user ke personal data ke sath koi khilwad na ho. Agar aap new privacy policy ko accept nahi karna chahte to whatsapp settings mein diye huye option mein change kar de.

WhatsApp ko use karne ke liye pahle pay karna hota tha aur ab hume kuchh bhi pay nahi karte hai, free of coast whatsapp use kar rahe hai. Lekin whatsapp aur Facebook ne ab whatsapp par hone waale technical pays ko receive karne ke liye apni policy mein badlav kiya hai aur ab aap le whatsapp number Facebook par share honge. Lekin ye bhi aap par depend hai ke aap ish policy ko accept kar apna whatsapp number publicly share karna chahte hai ya nahi.

So agar aap apna numbet share nahi karna chahte to whatsapp settings mein ish off kar de.


Recommended Articles
WhatsApp New Update, Ab Send Kare Qoutes
WhatsApp Account Hack Kaise Kare -Full Tutorial
WhatsApp 2 Step Verification Enable Karne Ka Tarika
Whatsapp 10 Amazing Facts Jinke Bare Mein Aap Nahi Jaante


Conclusion

Dosto, jaisa ki maine upar btaya, Facebook ki success ka reason user data hai jis se data ko analyse kar future mein user ki choice ke according changes kiye ja sake. New privacy policy ko ishliye issue kiya gya hai taaki advertisers ko ek platform aur mile jaha wo jyada se jyada logo tak apne products ka advertising kar sake hai. Aur sath hi ye Facebook ke liye bahut jyada paise kamane ki policy bhi prove ho sakti hai. Aap ke whatsapp updated policy ke bare mein kya views hai.Comment below

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *